तो 1 मार्च को अरूण जेटली से नहीं मिले थे विजय माल्या

देश में विजय माल्या को लेकर इन दिनों जो सियासी माहौल सत्ता पक्ष और विपक्ष में बहसबाजी का माहौल उत्पन्न कर रखा है उसकी जानकारी और हकीकत हर कोई जानना चाहता है वहीं कांग्रेस का आरोप था कि देश छोड़ने से पहले भगोड़ा विजय माल्या अरुण जेटली से मुलाकात करके यहां से रवाना हुआ था लेकिन अब बीजेपी ने इस बारे में अपनी सफाई पेश की है।

बीजेपी ने जारी किया अरुण जेटली के 1 मार्च का शेड्यूल – 

कांग्रेस के दामों को खारिज करते हुए भारतीय जनता पार्टी ने अरुण जेटली की डायरी से उस दिन का विवरण दिया है जिस दिन विजय माल्या और अरुण जेटली के बीच हुई मुलाकात का दावा किया जा रहा है क्योंकि बयान आया था कि विजय माल्या और अरुण जेटली की मुलाकात उस समय हुई थी जब विजय माल्या देश छोड़कर भागना चाहते थे और इससे पहले कि वह देश छोड़ने उन्होंने अरुण जेटली से मिलकर काफी लंबी बातचीत भी की थी। कांग्रेस नेता पीएल पुनिया के अनुसार, लंदन फरार होने से एक दिन पहले भगोड़े शराब व्‍यापारी व वित्‍त मंत्री अरुण जेटली के बीच संसद में 15 मिनट की बैठक हुई थी। मैं संसद के सेंट्रल हॉल में था। मैंने कोने में जेटली और माल्‍या को बात करते देखा। 5-7 मिनटों बाद वे बेंच पर बैठ गए और बातचीत शुरू कर दी। माल्‍या केवल जेटली से मुलाकात करने आए थे। उन्‍होंने कहा, ‘यह मेरी चुनौती है। अगर आपको मैं गलत लगता हूं तो आप सीसीटीवी फुटेज देख सकते हैं। यदि मैं गलत हुआ तो इस्‍तीफा दे दूंगा।’ लेकिन अब बीजेपी ने अरुण जेटली की डायरी से वह शैड्यूल जारी किया है जिस दिन विजय माल्या और अरुण जेटली की मुलाकात होने की बातें की जा रही है दरअसल अरुण जेटली 1 मार्च को सुबह 9.30 से 10.30 बजे तक अरुण जेटली ने भाजपा के संसदीय पार्टी मीटिंग में हिस्‍सा लिया उसके बाद उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ संसद में जाकर एक अनौपचारिक बैठक भी की। इसके बाद जेटली राज्यसभा गए जहां वह 11:00 बजे से लेकर 11:45 तक थे और राज्यसभा से निकलने के बाद वो सीधे 2 किलोमीटर दूर स्थित विज्ञान भवन गए और वहां पर एक कार्यक्रम को संबोधित किया।

विज्ञान भवन में अरुण जेटली  के कार्यक्रम का समय दोपहर में 1.08 बजे से 1.17 तक का है। वे वहां दोपहर दो बजे तक रहे। इसके बाद वे नार्थ ब्‍लॉक स्‍थित अपने कार्यालय गए। इस दौरान वे किसी भी वक्‍त संसद के सेंट्रल हॉल में नहीं थे जहां कथित शराब व्‍यापारी से उनकी मुलाकात होती। वहीं अरुण जेटली ने भी अपने ऊपर लगे आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि विजय माल्या के द्वारा लगाए गए यह आरोप बेबुनियाद हैं।

Connect with Us! अपनी राय कमेंट्स में दें. ताजा ख़बरों के लिए हमें फॉलो करें. अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई, तो इसे लाइक और शेयर करना न भूलें. Subscribe our Youtube Channel: AajKaReporter Follow us on: Facebook, Twitter, Instagram