इन मदरसों पर गिरी, योगी सरकार की गाज

उत्तर प्रदेश में जब से योगी सरकार बनी है तब से कोई ना कोई ऐसा मामला जरूर सुनने को मिलता है जिसमें योगी सरकार के द्वारा उठाए गए कदम पर चर्चा जरूर शुरू हो जाती है। कुछ ऐसा ही मामला अब सामने आया है  उत्तर प्रदेश में स्थित मदरसों को लेकर….। जी हां उत्तर प्रदेश में कुछ मदरसे ऐसे हैं जो फर्जी तरीके से चल रहे हैं और उन की आड़ में कई ऐसे कार्य किए जा रहे हैं जो कानूनन अपराध है जिस पर योगी सरकार ने सख्ती दिखाई है तो चलिए जानते हैं क्या है पूरी बात……

फर्जी तरीके से चल रहे मदरसों पर सख्त होगी योगी सरकार – 

समाजवादी पार्टी के शासन के दौरान मेरठ मदरसा स्कॉलरशिप घोटाले ने राजनीतिक सियासत को यूपी में बहुत अच्छे तरीके से गरमाया था। जिसके बाद इस मामले की जब जांच शुरू हुई तो इसमें कई आला अधिकारियों का बहुत बड़ा हाथ सामने देखने को मिला। इस मामले में उत्तर प्रदेश पुलिस के आर्थिक अपराध विंग आंखों ने मदरसा स्कॉलरशिप स्कैम के 52 मामलों की जांच करने की सिफारिश की थी जिसके बाद जब इस मामले की जांच करने को हरी झंडी मिली और पुलिस ने इस मामले की जांच शुरू की तो पता चला कि इसमें कई मदरसे ऐसे थे जो केवल पेपर पर ही मौजूद थे और मदरसों की आड़ में गलत तरीके से फंड लिया जा रहा था। और सरकार ने अब 26 मामलों के जांच करने के आदेश दे दिए हैं। पुलिस ने बताया है कि मदरसों को और अन्य अल्पसंख्यक संस्थानों को जो स्कॉलरशिप दी जाती थी वह केवल पेपर पर ही मौजूद थे। जांच के मुताबिक ऐसे संस्थानों ने जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी सुमन गौतम के साथ मिलकर 2009 से 2011 तक करोड़ों रुपये का घपला किया। बाद में जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी सुमन गौतम को इस मामले में गिरफ्तार भी किया गया लेकिन उन्हें बाद में रिहा भी कर दिया गया और वर्तमान में वह हापुर में कार्यरत हैं।

गौरतलब है कि शिक्षा के आड़ में कई ऐसे फर्जी संस्थान यूपी में पिछले कई सालों से चल रहे हैं जिन पर जल्दी किसी का ध्यान नहीं जाता लेकिन जब बात करोड़ों के घोटाले की होती है तब जाकर सरकारी नौकरशाहों के कानों में इसकी जूं रेंगती है। हालांकि इस बारे में काफी पहले से ही जांच समिति बना दी गई थी जिसके बाद जब योगी सरकार के सामने रिपोर्ट सौंपी गई कि मदरसों में स्कॉलरशिप स्कैम चल रहा है उसे जल्द से जल्द रोकना चाहिए तब योगी सरकार ने यह फैसला लिया है और स्कॉलरशिप स्कैम के मामले में जांच के आदेश दिए हैं।

Connect with Us! अपनी राय कमेंट्स में दें. ताजा ख़बरों के लिए हमें फॉलो करें. अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई, तो इसे लाइक और शेयर करना न भूलें. Subscribe our Youtube Channel: AajKaReporter Follow us on: Facebook, Twitter, Instagram