आर्थिक आधार पर हो आरक्षण : धनवंत

आरक्षण

आज पटना के गांधी मैदान में बापू कुछ ज्यादा ही चहल-पहल थी। बापू के स्मारक स्थल के पास कुछ महिलाएं आपस में बैठ कर आरक्षण के विषय पर बात कर रही थी तो दूसरे जगह कुछ युवा आंदोलन की रणनीति बना रहे थे।

अखिल भारतीय अपराध विरोधी मोर्चा के आह्वान पर बिहार के कोने-कोने से आए लोगों में गजब का उत्साह और सजगता देखने को मिल रही थी। सबका एक ही मुद्दा था, आरक्षण पर पुनर्समीक्षा। कुछ महिलाएं बता रही थी की आज की व्यवस्था में दलित जातियों में जरूरतमंद किसी गरीब को आरक्षण का लाभ नहीं मिलता है। दर्जनों युवाओं का नेतृत्व कर रहे दीपक कुमार वर्तमान सरकार के खिलाफ नारा लगाते हुए बता रहे थे कि हम बीजेपी के वोटर थे। लेकिन जब से वर्तमान सरकार ने निजी क्षेत्र में भी आरक्षण की बात की है तभी से हमरा विश्वास राजनीति पर से उठ गया है। वर्तमान सरकार विकास के मुद्दे को छोड़, जातीय भावना को जगाकर आपसी सामंजस्य को खराब कर वोट की राजनीति कर रही है। वही मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री धनवंत सिंह राठौर ने कहा कि यह कैसे विडंबना है की आजादी के 70 साल बाद भी अब तक जिनके लिए आरक्षण की व्यवस्था बनाई गई थी, उनकी स्थिति में आज तक कोई सुधार नहीं हुआ। इसका प्रमुख कारण है कि आरक्षण का लाभ शीर्ष पर बैठे राजनेता, ब्यूरोक्रेट, मीडिया संस्थानों के संपादक या कोई महत्वपूर्ण समाजकर्मी बस यही लोग ले पा रहे हैं। यदि आरक्षण का आधार गरीबी रहे तो सही तो इसका लाभ सही लोग ले पाएंगे। संगठन के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष देव चंद्र मंडल जी ने सरकार और वर्तमान आरक्षण की नीतियों पर नारा लगा कर उपस्थित लोगों के अंदर जोश भरने और सत्ता के खिलाफ संघर्ष का बिगुल फूंकने का आह्वान किया। बिहार के कई जिलों से लोग इस करो या मरो आंदोलन में सैकड़ों में शामिल थे। अंत में सभी ने शपथ लेकर इस कार्यक्रम को आगे भी जारी रखने की बात कही।

जरुर पढ़ें- ‘पटना मैराथन 2017’ का आयोजन 17 दिसम्बर को

शपथ कुछ इस प्रकार है :-

1. मैं आज दिनांक 19 नवंबर 2017 को इसके महापुरुष गांधी मैदान पटना के गांधी जी के स्मारक स्थल पर सत्य और निष्ठा से यह शपथ लेता हूँ की-

2. समाज के सबसे अंतिम पायदान पर खड़े लोगों को आगे बढ़ाने के लिए संविधान में दी गई आरक्षण की सुविधा को आर्थिक आधार पर दिलाने के लिए चल रहे संघर्ष करो या मरो आंदोलन में निश्वार्थ भाव से भाग लूंगा। समाज के किसी भी जाति के अंतिम पायदान पर खड़े लोगों को ऊपर उठाने के लिए आरक्षण का आधार आर्थिक इसके लिए केंद्र एवं राज्य सरकार पर दबाव डालने हेतु चलने वाले आंदोलन का सहयोगी बनने का संकल्प लेता हूँ।

3. साथी गांधी-लोहिया-जयप्रकाश के रास्ते पर चलकर समाज में जातियों के बीच आपसी एकता को खंडित करने में लगे राष्ट्र विरोधी का शक्तियों के खिलाफ एकजुट होकर अपने देश एवं राज्य को सर्वशक्तिमान बनाने का संकल्प लेता हूँ। अंत में संस्कृति कर्मी सुनील कुमार ने धन्यवाद ज्ञापन करके सभा का समापन किया।

ये भी पढ़ें-बिहार की शिक्षा व्यवस्था के ‘लोटा युग’ में आपका स्वागत है

Connect with Us! अपनी राय कमेंट्स में दें. ताजा ख़बरों के लिए हमें फॉलो करें. अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई, तो इसे लाइक और शेयर करना न भूलें. Subscribe our Youtube Channel: AajKaReporter Follow us on: Facebook, Twitter, Instagram