7 जनवरी अंतरराष्ट्रीय पतंगबाजी दिवस

हम भारतीय इस शरद ऋतु में पतंगबाजी में खूब रुचि लेते हैं,क्या बच्चे क्या जवान सभी पतंग के पीछे दौड़ते नज़र आते हैं। हालांकि 14 जनवरी को विशेष रूप से पतंगबाजी करते हैं परंतु आज 7 जनवरी को अंतरराष्ट्रीय पतंगबाजी दिवस मनाया जाता है जिसका रंगा रंग समापन 14 जनवरी को किया जाता है।

अंतरराष्ट्रीय पतंगबाजी दिवस सामान्यतः पूरे भारत में मनाया जाता है परंतु गुजरात के अहमदाबाद में इसका आयोजन बड़े ही उत्साह एवं उमंग के साथ विशेष समारोह के रूप में किया जाता है।

पहले भी लोग मकर संक्रांति के दिन पतंगबाज़ी करते थे परंतु सन 1989 में इसे त्रिदिवसीय आयोजन के रूप में शुरू किया गया जो  बाद में सप्त दिवसीय हो गया।

पतंगबाजी खुशी और आनंद तो देता ही है साथ ही भाईचारे का भी संदेश देता है। यह उन्मुक्त आकाश में विचरने को प्रेरित करता है साथ ही विवेक के बंधन से बंधे रहने का संदेश देता है।

इसका आध्यात्मिक महत्त्व भी है कि जब हम विवेक और सत्याचरण से हटते हैं तो कटी पतंग के तरह किसी पेड़ की टहनी पे अटक जाते हैं।

अंतरराष्ट्रीय पतंगबाजी दिवस का आर्थिक पहलू यह भी है कि इस दिन अधिक से अधिक अंतरराष्ट्रीय पर्यटक गुजरात आते हैं और पतंगबाजी का बेमिसाल लुत्फ उठाते है।

Connect with Us! अपनी राय कमेंट्स में दें. ताजा ख़बरों के लिए हमें फॉलो करें. अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई, तो इसे लाइक और शेयर करना न भूलें. Subscribe our Youtube Channel: AajKaReporter Follow us on: Facebook, Twitter, Instagram