पटना में फिर अाई मेट्रो निर्माण कार्य में बाधा

यूं तो बिहार की राजधानी पटना में मेट्रो निर्माण करने की चर्चा पिछले कई सालों से चली आ रही है लेकिन अभी तक पटना के लोगों ने मेट्रो का सिर्फ सपना ही संयो पाया है। हर बार किसी न किसी कारणवश मेट्रो पर निर्माण में बाधा पड़ जाती है और इस बार फिर से मेट्रो निर्माण में बेली रोड पर बन रहे लोहिया पथ चक्र निर्माण ना करने का बड़ा कारण बन रहा है। अब मेट्रो निर्माण के मामले में नगर विकास मंत्री सुरेश शर्मा की मानना है कि इस महीने राइट्स कंपनी डीपीआर बिहार सरकार को सौंप देगी।

पटना में मेट्रो निर्माण कार्य में अाई फिर बाधा-

इस बार बिहार की राजधानी पटना में मेट्रो निर्माण कार्य के लिए बेली रोड पर बन रहे लोहिया पथ चक्र निर्माण ने बाधा दाली है।इस मामले में इससे पहले भी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के पास पटना मेट्रो डीपीआर भेजी गयी थी। तब डीपीआर के कई एलाइनमेंट को लेकर मुख्मंत्री ने आपत्ति जताई। खासकर बेली रोड के लोहिया पथ चक्र को लेकर एलाइनमेंट में विशेष रूप से बदलाव करने का निर्देश दिया। मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद डीपीआर में बदलाव कर फिर से तैयार किया जा रहा है। दूसरी तरफ ओर विकास मंत्री और जदयू के वरिष्ठ नेता महेश्वर हजारी का कहना है कि पहले बिहार में महागठबंधन और केंद्र में एनडीए की सरकार थी, इसी कारण पहले डीपीआर बनने के बाद भी केंद्र से स्वीकृति नहीं मिली थी। बाद में केंद्र सरकार ने मेट्रो के लिए नेशनल मेट्रो पॉलिसी ले आयी। उसके कारण फिर से डीपीआर तैयार किया जा रहा है। वहीं, महेश्वर हजारी का मानना है कि यदि उस समय डीपीआर की स्वीकृति केंद्र दे देता तो पटना मेट्रो का 50 फीसदी काम आज हो गया रहता।

जानकारी के लिए आपको बता दें कि पटना मेट्रो लगभग 32 KM लंबी दो कॉरिडोर में बनना है। पहले कोरिडोर में 16.94 KM पर काम होगा तो दूसरे कोरिडोर में 14.45 KM पर। दोनों कोरिडोर के निर्माण पर 19 हजार पांच सौ करोड़ से अधिक की राशि खर्च होनी है। दोनों कॉरीडोर में 55 से अधिक स्टेशन बनाए जाएंगे जो 2024 तक बनकर तैयार होगा।

Connect with Us! अपनी राय कमेंट्स में दें. ताजा ख़बरों के लिए हमें फॉलो करें. अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई, तो इसे लाइक और शेयर करना न भूलें. Subscribe our Youtube Channel: AajKaReporter Follow us on: Facebook, Twitter, Instagram