बिहार की राजधानी पटना के पुलिसकर्मियों पर फिर गिरी गाज हुआ यह फैसला

बिहार में आए दिन गुंडागर्दी और दरिंदगी जैसी वारदातों की खबर सामने आती है जहां पर अपराधियों ने बिहार में हत्या लूटपाट, मॉब लिंचिंग, बलात्कार आदि घटनाओं को अंजाम देते हैं और पुलिस हाथ पर हाथ रखे रह जाती है। इसी कड़ी में बिहार की राजधानी पटना में कई थानेदारों को मुश्किलों का सामना करना पड़ा और उनके तबादले और कई को निलंबित भी किया जा चुका है।

पटना में थानेदारों का हुआ तबादला-

बिहार में जिस तरह से अपराधियों ने दहशत बना रखी है उस तरह से लोगों के अंदर से डर और डर ही रह गया है। अपराधियों को लेकर पुलिस भी कोई कदम नहीं उठा पा रही है और अपराधियों ने बिहार में दहशत फैला रखी है। इसी कारण पटना में कई पुलिसकर्मियों को निलंबित तो किसी को इधर से उधर कर दिया गया है। इसी क्रम में एक बार फिर राजधानी पटना के 6 थानेदारों का तबादला किया गया है। इसमें अरविंद कुमार को मालसलामी, गोल्डन कुमार को बाईपास, केशव कुमार मजूमदार को नौबतपुर, सुनिल कुमार को रामकृष्ण नगर, दिवाकर को एसकेपुरी और राजेश कुमार सिन्हा को रूपसपुर थाने की जिम्मेदारी दी गई है। आपको बता दें कि बिहार में प्रशासन ने यह कदम पहली बार ही नहीं बल्कि इससे पहले भी एक बार लिया है।

इससे पहले भी रूपसपुर इलाके में डॉक्टर के बेटे सत्यम के अपहरण और हत्या के मामले में आईजी नय्यर हसनैन खान ने रूपसपुर थानाध्यक्ष को निलंबित किया था। दूसरी तरफ शुक्रवार और शनिवार को गृह विभाग ने भी दर्जनभर से ज्यादा आईपीएस अधिकारियों का तबादला किया था।

Connect with Us! अपनी राय कमेंट्स में दें. ताजा ख़बरों के लिए हमें फॉलो करें. अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई, तो इसे लाइक और शेयर करना न भूलें. Subscribe our Youtube Channel: AajKaReporter Follow us on: Facebook, Twitter, Instagram