पटना यूनिवर्सिटी के छात्रों ने दिया किसानों का ऐसे साथ

गांधी जयंती के अवसर पर दिल्ली में हुई किसानों की पिटाई की गूंज देश के कई जगहों पर अभी भी सुनाई दे रही है और लोग इसका जमकर विरोध कर रहे हैं। वहीं किसानों के दर्द की गूंज बिहार के छात्रों को भी सुनाई दी और वह उनका दर्द महसूस कर रहे हैं।

दिल्ली में किसानों की हुई पिटाई का दर्द बिहार के छात्रों द्वारा महसूस किया गया और उसके बाद छात्रों ने केंद्र सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की और उनकी कड़ी निंदा भी की। दरअसल, जन अधिकार छात्र परिषद ने गांधी जयंती पर दिल्ली में हुई किसानों की पिटाई के विरोध में मार्च निकाला। पटना यूनिवर्सिटी से कारगिल चौक तक मार्च का आयोजन किया गया। मार्च के दौरान छात्रों ने केंद्र सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी की। जन अधिकार छात्र परिषद के सदस्यों का कहना था कि सरकार एक तरफ गांधी जयंती पर अहिंसा और शांति का पाठ पढ़ा रही थी और लाल बहादुर शास्त्री की जयंती पर जय जवान जय किसान के नारे लगाए जा रहे थे। वहीं, दिल्ली बॉर्डर पर किसानों के साथ बर्बरती की गई। छात्रों ने कहा कि यूपी के बॉर्डर पर किसान अपने हक की मांग को लेकर संसद मार्च करने के दौरान उनकी बर्बरतापूर्वक पिटाई की गई। इसके खिलाफ पूरे प्रदेश में जन अधिकार संगठन की ओर से विरोध प्रदर्शन किया जा रहा है।

बिहार की राजधानी पटना यूनिवर्सिटी के छात्रों को कम से कम उस किसान का एहसान तो याद है जो हमें दिन रात मेहनत करके अनाज देता है जिसकी वजह से हमारा पालन-पोषण होता है, जिसकी वजह से हमें खाना मिलता है। गांधी जयंती के अवसर पर केंद्र सरकार द्वारा किया गया यह फैसला बिल्कुल गलत है और छात्र ही नहीं पूरा देश इसकी निंदा कर रहा है।

Connect with Us! अपनी राय कमेंट्स में दें. ताजा ख़बरों के लिए हमें फॉलो करें. अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई, तो इसे लाइक और शेयर करना न भूलें. Subscribe our Youtube Channel: AajKaReporter Follow us on: Facebook, Twitter, Instagram