फिल्मकार ने लगाया गणितज्ञ आनंद कुमार पर गंभीर आरोप, जाने क्या है आरोप

शिक्षक समाज का आईना होते है एवं राष्ट्र निर्माण में अहम भूमिका निभाते है। प्राचीन समय से चली आ रही परंपरा के अनुसार गुरुओं का स्थान सर्वोपरि होता है। राष्ट्र निर्माण एवं व्यक्तित्व निर्माण में शिक्षकों की भूमिका एवं योगदान के लिए शब्द कम पड़ जाएंगे।

शिक्षकों का कर्तव्य होता है कि वो समाज को सही दिशा दिखाए, बच्चों का शैक्षणिक के साथ-साथ चारित्रिक निर्माण में भी अहम भूमिका निभाये। इन्हीं कारणों से बच्चे शिक्षकों को अपना आदर्श मानते है एवं उनका अनुसरण करते है। इस आदर्श स्थिति के विपरीत यदि कोई शिक्षक किसी गलत कार्य मे संलिप्त होते है तो उस एक के कृत्य का असर पूरे शिक्षक वर्ग पर पड़ता है। इस स्थिति में बच्चों का आदर्श प्रभावित होता है। आज पुनः वही विकट स्थिति आ चुकी है एवं एक शिक्षक के कुकृत्य की चर्चा हो रही है।

मै बात कर रहा हूँ आनंद कुमार की जो ‘सुपर-30’ के वजह से जाने जाते है और इसकी चर्चा देश ही नही बल्कि विदेशों में भी होती है। किन्तु वर्तमान में फिल्मकार सुजीत कुमार सिंह ने श्री आनंद पर गंभीर आरोप लगाते हुए उन्हें कठघरे में खड़ा कर दिया है।

सुजीत कुमार सिंह स्टेटस-

My name is Sujit and it was me who had filed an RTI on Super 30. Truth is that Mr Anand Kumar, co-founder of Super 30,…

Posted by Sujit K Singh on Saturday, 10 February 2018

सुजीत कुमार सिंह ने अपने सोशल मीडिया फेसबुक स्टेटस में खुद और आनंद कुमार से जुड़ी घटना का वर्णन किया है, जिसके अनुसार श्री आनंद कुमार के ही कहने पर उन्होंने RTI के माध्यम से PSU ‘सुपर 30’ की विभिन्न शाखाओं की फंडिंग की जा रही थी जिसके अकादमिक मेंटर बिहार के पूर्व डीजीपी अभयानंद  थे, की जानकारी एकत्रित की थी। इसके पीछे एकमात्र वजह यह था कि इस डाटा को समाज के सामने गलत ढंग से प्रतुत कर मेंटर अभयानंद जी को नीचा दिखाया जाय। किन्तु हुया ठीक इसके उलट, जैसे ही इसकी खबर सोशल मीडिया के माध्यम से PSU कंपनी को मिली, उन्होंने नोटिफिकेशन जारी कर इस बात से साफ इनकार किया कि अभयानंद इसके बदले किसी भी प्रकार का लाभ नही लेते।

Posted by Centre for Social Responsibility & Leadership on Sunday, 11 February 2018

ऐसे आरोपो के जवाब में अभयानंद के कुछ कहने से पूर्व ही सुजीत कुमार सिंह और PSU कंपनी ने वस्तुस्थिति स्पष्ट कर दी। सुजीत ने अपने फेसबुक पोस्ट में कुछ और भी घटनाओं का जिक्र किया है जिनसे आनंद कुमार के चरित्र के कुछ और आयाम का पता चलता है जिससे की दुनिया अनजान है। लेख के अंत मे उस फेसबुक स्टेटस की लिंक का उल्लेख किया गया है।
अपने स्टेटस में सुजीत ने इतना ही नहीं बल्कि आनंद कुमार को खुली चुनैती देते हुए जनता व समाज प्रत्यक्ष रूप से डिबेट करने की बात कही है। किन्तु आदतन आनंद कुमार ने चुप्पी साध रखी है।

अब देखना यह है कि पूर्व डीजीपी अभयानंद पर आरोप की अफवाह ही उड़ी तो उसका स्पष्टीकरण उपलब्ध हो गया जबकि आनंद पर तो गाहे-बगाहे अफवाहों लगते ही रहते है किंतु उनका या उनके तरफ से कोई भी स्पष्टीकरण नहीं हो पाता है।
अब देखना यह है कि सुजीत कुमार के इस वार पर आनंद क्या रुख अपनाते है?
क्या आनंद कोई स्पष्टीकरण सुजीत या समाज को देंगे?
क्या आनंद मीडिया के सामने आएंगे?
सवाल तो बहुत से है किंतु पूर्व की भांति जवाब उपलब्ध नहीं है, तो इंतज़ार करे अब किसी अगले खुलासे के..
फिलहाल सुजीत कुमार सिंह के इन गंभीर आरोपो से यह तो तय है कि कुछ तो आधार है, पर्दे की पीछे की कुछ तो सच्चाई होगी, तो इंतेज़ार कीजिये किसी नए खुलासे का..

आप अपने बहुमूल्य राय व टिप्पणियां नीचे कमेंट बॉक्स में जरूर दे:-

Connect with Us! अपनी राय कमेंट्स में दें. ताजा ख़बरों के लिए हमें फॉलो करें. अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई, तो इसे लाइक और शेयर करना न भूलें. Subscribe our Youtube Channel: AajKaReporter Follow us on: Facebook, Twitter, Instagram