स्वामी अग्निवेश पर हुआ हमला, जानिए आखिर क्या है मामला

swami_755_1531850817_650x488

झारखंड के पाकुड़ में सामाजिक कार्यकर्ता स्वामी अग्निवेश पर कथित रूप से बीजेपी कार्यकर्ताओं ने हमला कर उनके साथ मारपीट की. बीजेपी कार्यकर्ताओं ने उन्हें काले झंडे दिखाए और हाथापाई की. साथ ही भीड़ ने उनके कपड़े फाड़े और उनके साथ मारपीट की. इन घटनाओं के बीच उनके सहयोगियों ने उन्हें बचाने की पूरी कोशिश की इसलिए ज्यादा शारीरिक नुकसान होने से वे बच गए. इस घटना के तुरंत बाद ही पुलिस ने 20 हमलावरों को हिरासत में ले लिया है. बाद में झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास ने सामाजिक कार्यकर्ता स्वामी अग्विवेश से मारपीट मामले की जांच के आदेश दिए हैं. हालाकि इस मारपीट का वीडियो भी सामने आया है.

आपको बता दे की, स्वामी अग्निवेश बंधुआ मुक्ति मोर्चा के संस्थापक व पूर्व राज्यसभा के सदस्य रहे है. छत्तीसगढ़ के सक्ति में जन्मे स्वामी अग्निवेश ने कोलकाता से कानून और बिजनेस मैनेजमेंट की पढ़ाई की है. इसके बाद वे आर्य समाजी हो गए और संन्यास ग्रहण कर लिया. इस दौरान 1968 में उन्होंने आर्य सभा नाम की राजनीतिक पार्टी बनाई. बाद में साल 1981 में उन्होंने बंधुआ मुक्ति मोर्चा की स्थापना की. वे राजनीति में भी सक्रिय रहे. हरियाणा से विधानसभा चुनाव लड़ा और जीतकर मंत्री बने. लेकिन, वहाँ मजदूरों पर लाठीचार्ज की एक घटना के बाद उन्होंने मंत्रीपद से इस्तीफ़ा दे दिया और राजनीति को अलविदा कह दिया.

अक्सर विवादों में रहने वाले स्वामी अग्निवेश दोपहर करीब एक बजे जब अपने समर्थकों के साथ दामिन दिवस समारोह में शामिल होने के लिए होटल से बाहर निकल रहे थे, तब अचानक कार्यकर्ताओं ने उन पर हमला बोल दिया. उनको खींचकर जमीन पर गिरा दिया. इसके बाद लाठी, डंडा, जूता चप्पल जो मिला उसका प्रयोग किया. हमले के बाद कुछ समर्थकों ने किसी प्रकार अग्निवेश को वहां से निकाला और उन्हें होटल के अंदर ले गए, जहां प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के चिकित्सक डॉ. समरूल ने उनका इलाज किया. अपने साथ हुई मारपीट पर स्वामी अग्निवेश ने कहा, ‘मैं हर प्रकार की हिंसा के खिलाफ हूं. मेरी पहचान शांतिप्रिय व्यक्ति के रूप में है. मुझे नहीं पता कि मुझ पर हमला क्यों हुआ. उन लोगों ने घूंसा मारा, लातें मारीं और मुझे जमीन पर घसीटा. गालियां दीं.’ तो वहीं इस घटना को लेकर भाजयुमो कार्यकर्ताओं का कहना है कि स्वामी अग्निवेश यहां के भोले-भाले आदिवासियों को भड़काने आए हैं. ये पाकिस्तान व ईसाई मिशनरियों के इशारे पर काम कर रहे हैं.

Connect with Us! अपनी राय कमेंट्स में दें. ताजा ख़बरों के लिए हमें फॉलो करें. अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई, तो इसे लाइक और शेयर करना न भूलें. Subscribe our Youtube Channel: AajKaReporter Follow us on: Facebook, Twitter, Instagram