कर्नाटक के मुख्यमंत्री ने गठबंधन को लेकर दिये जवाब से बढ़ गई हैं कोंग्रेस की टेंशन

2019 में होने वाले आम चुनावों के लिए कांग्रेस और भाजपा समेत कई क्षेत्रीय पार्टियां चुनाव की रणनीति में जुट गई हैं। कर्नाटक में चल रही कोंग्रेस और जे डी एस की गठबंधन सरकार के बीच असंतोष पहले सी ही उभरकर सामने आ रहा था। लेकिन हाल ही में कर्नाटक में हुए एक कार्यक्रम में कर्नाटक के मुख्यमंत्री सीएम कुमारस्वामी ने कुछ ऐसे बयान किए, जिससे यह साफ हुआ की इस गठबंधन की सरकार में कुछ अच्छा नहीं चल रहा है। इस कार्यक्रम में उन्होंने अपने कार्यकर्ताओं से कहा, जब मैं सीएम बना था तो आप लोग बहुत खुश थे। लेकिन मैं आपसे कहना चाहता हूं कि मैं खुश नहीं हूं। गठबंधन का सीएम बनना जहर पीने से कम नहीं है। साथ ही मंगलवार को कुमारस्वामी से जब गठबंधन से जुड़ा सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा कि ये तो कांग्रेस पर निर्भर करेगा कि वह गठबंधन को लेकर क्या कदम उठाती है। मालूम हो कि इसी साल कर्नाटक में हुए विधानसभा चुनाव में किसी भी दल को पूर्ण बहुमत नहीं मिला था। इसके बाद कांग्रेस ने आगे बढ़कर जेडीएस को मुख्यमंत्री का पद ऑफर किया था।

आपको बता दें कि, सरकार अस्तित्‍व में आने के बाद से ही दोनों के बीच मतभेद खुलकर सामने आ गया था। पहले मंत्रिमंडल में मंत्रियों की संख्‍या, इसके बाद बजट पेश करने को लेकर भी दोनों के बीच मतभेद खुलकर सामने आ गए थे और इस मुद्दे पर सरकार गिराने तक के संकेत दिए थे। और अब आज के सवालों का जवाब देने के तरीके से भी साफ है कि कुमारस्‍वामी इस गठबंधन से खुश नहीं हैं। फिलहाल कांग्रेस की ओर से इस गठबंधन को लेकर कोई बयान अभी तक जारी नहीं किया गया है। जबकि कांग्रेस ने भी बीते रविवार को पार्टी की सीडब्ल्यूसी (कांग्रेस वर्किंग कमिटी) की पहली मीटिंग में 2019 के लिए रोडमैप पर चर्चा की गई। इस दौरान 2019 में समान विचारधारा वाली पार्टियों के साथ गठबंधन बनाने को लेकर टीम बनाने पर भी जोर दिया गया। मालूम हो कि कांग्रेस पार्टी 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले सभी विपक्षी दलों को एक मंच पर लाने की पूरी कोशिश कर रही है।

Connect with Us! अपनी राय कमेंट्स में दें. ताजा ख़बरों के लिए हमें फॉलो करें. अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई, तो इसे लाइक और शेयर करना न भूलें. Subscribe our Youtube Channel: AajKaReporter Follow us on: Facebook, Twitter, Instagram