पेट्रोल और डीजल को GST के दायरे में लाने के लिये उतरेंगे लाखों ट्रक मालिक

पेट्रोल और डीजल

महाराष्ट्र के लाखों ट्रक ‘GST’, ईंधन की बढ़ी कीमतें, रोड पे व्याप्त भ्रष्टाचार के खिलाफ 9 और 10 अक्टूबर दो दिनों की राष्ट्रव्यापी हड़ताल पे जाएंगे। यह राष्ट्रव्यापी हड़ताल ‘आल इंडिया मोटर ट्रांसपोर्ट कांग्रेस‘ के द्वारा बुलाया गया है और उन्हें राज्य के अन्य परिवहन एसोसिएशन का समर्थन मिल रहा है, वो दावा कर रहे है कि लगभग 10 लाख ट्रक और मालवाहक गाड़िया सड़क पे नही चलेंगी किन्तु आवश्यक बस्तुयो जैसे जीवन रक्षक दवाएं, हरि सब्जियां, दूध और दूध के खाद्य पदार्थो की परिवहन में कोई अड़चन नही आएगी।

Must Read-गुजरात में मरीन पोलिस प्रशिक्षण संस्थान की स्थापना करेंगे मोदी

डीजल की बढ़ती कीमते और दैनिक मूल्य व्यवस्था से परिवहन क्षेत्र काफी प्रभावित हुए है, सरकार को तिमाही आधार पे कीमतों में संशोधन करने का प्रावधान करना चाहिए, ट्रैकों को ‘GST‘ दायरे से मुक्त करना चाहिए, इस से नही ट्रांसपोर्टरों ओर नही सरकार को किसी प्रकार का राजस्व लाभ होगा फिर भी सरकार उनपे पंजीकरण के लिए दबाब बना रही है। पेट्रोल और डीजल को भी GST दायरे में लाना चाहिए जिस से इनके कीमतो में आंशिक कमी आए। एसोसिएशन वालो का कहना है कि बसें इस बार हड़ताल में नही है किंतु आगे वो भी हड़ताल में शरीक होंगी।

Connect with Us! अपनी राय कमेंट्स में दें. ताजा ख़बरों के लिए हमें फॉलो करें. अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई, तो इसे लाइक और शेयर करना न भूलें. Subscribe our Youtube Channel: AajKaReporter Follow us on: Facebook, Twitter, Instagram