मणिपुर का करांग बना पहला कैशलेस द्वीप, उपलब्धि पाने वाले अधिकारियों को PM ने किया सम्मानित 

केंद्रीय इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने डिजिटल इंडिया कार्यक्रम के तहत मणिपुर में करंग को देश का पहला कैशलेस द्वीप घोषित किया है। 22 अप्रैल, 2018 को, प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने मणिपुर के करंग को देश का पहला कैशलेस द्वीप बनाने के लिये नोकरशाहों को सम्मानित किया। प्रधानमंत्री मोदी ने चार प्राथमिकता वाले कार्यक्रमों- प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना, प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी एवं ग्रामीण), दीनदयाल उपाध्याय ग्रामीण कौशल योजना और डिजिटल भुगतान को बढ़ावा देने के लिए नौकरशाहों को पुरस्कृत किया।

करंग द्वीप देश के उत्तर-पूर्वी हिस्से में मौजूद ताज़े पानी की सबसे बड़ी झील लोकटक के मध्य में स्थित है। यह घोषणा 9-12 जनवरी के बीच कैशलेस लेनदेन को बढ़ावा देने के लिए चलाए गए अभियान के बाद की गई है। करंग द्वीप मणिपुर के बिष्णूपुर जिले में स्थापित एक दुरस्त और पिछड़ा क्षेत्र है जहां डिजिटल भुगतान की दिशा में प्रशिक्षण प्रदान कर पांच POS मशीनें स्थापित की गई थी। यहां डिजिटल भुगतान के बारे में लोगों को जागरूक करने के लिए एक ऑनलाइन चैनल भी लॉन्च किया गया। इसके साथ ही आधार पंजीकरण और बैंक खाते खोलने के लिए गतिविधियां शुरू की गईं। इसके परिणामस्वरूप 92 प्रतिशत बैंक खाते मोबाइल से जुड़ गए और उनमें से 70 प्रतिशत को आधार से जोड़ा गया। इसमें कहा गया है, कि गत 20 महीने में बिजली के बिल का भुगतान डिजिटल तरीके से करने में बढ़ोतरी 78 प्रतिशत से बढ़कर 97 प्रतिशत हो गई। मोदी ने जिले के उपायुक्त को डिजिटल भुगतान को बढ़ावा देने के लिए पुरस्कार दिया।

Connect with Us! अपनी राय कमेंट्स में दें. ताजा ख़बरों के लिए हमें फॉलो करें. अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई, तो इसे लाइक और शेयर करना न भूलें. Subscribe our Youtube Channel: AajKaReporter Follow us on: Facebook, Twitter, Instagram