ठनके के कारण ओड़िसा में 4 लाख से अधिक राज्यकर्मियों के मार्च के वेतन में विलंब

मार्च क्लोजिंग के कारण विभिन्न विभागों में वेतन विलब से आती है, उसके भिन्न-भिन्न कारण हो सकते है; एकाउंट्स, इनकम टैक्स आदि प्रमुख है। क्या कभी आपने सुना है या सोचा है कि प्राकृतिक गतिविधियीं के प्रभाव से भी वेतन मिलने में विलंब हो सकता है, यदि नहीं तो आज हम आपको ऐसी ही घटना बताएंगे, जहाँ प्राकृतिक गतिविधियों के हस्तक्षेप में कारण 4 लाख राज्य से भी अधिक कर्मियों के वेतन का भुगतान नहीं हो पाया है।

प्रकृति निर्माण के साथ विनाश भी करती है। इंसान अपने जीवन को सुविधाजनाक, आरामदेह बनाने के लिए प्रकृति का जितना ह्यास कर रहा है, प्राकृतिक आपदाओं, विपदाओं की संभावना उतनी ही प्रबल होती जा रही है। आंधी-तूफान, बिजली कड़कना आदि सामान्य प्राकृतिक गतिविधि है, किन्तु इनकी आवृत्ति तथा वेग दोनों की ही अधिकता इन्हें प्राकृतिक आपदा में तब्दील कर देता है। ओड़िसा सरकार के चार लाख से अधिक कर्मचारियों को मार्च महीने के वेतन का भुगतान नहीं हो पाया है क्योकि आंधी-तूफान के दौरान उस सर्वर में तकनीकी खराबी आ गयी है, जो कि वेतन भुगतान करने में आवश्यक है। इसे लेकर राज्यकर्मियों में रोष व्याप्त है।

इस संदर्भ में राज्यमंत्री शशि भूषण बेहरा ने बताया कि सामान्य तौर पर वेतन का भुगतान माह के अंत में अगले माह के शुरुआती सप्ताह में किया जाता है। हालाकिं अधिकारियो की माने तो सिस्टम की खराबी दूर हो चुकी है और जल्द ही वेतन का भुगतान किया जाएगा। बिजली कड़कने से उतपन्न हुई इस खराबी ने राज्यकर्मियों के वेतन पर आफत ही ला दिया है।

इस घटना पर कुछ लोगो की यह भी राय है कि कंप्यूटर व अन्य मशीनों पर बढ़ती निर्भरता इंसानों को मुश्किल में डाल सकता है। हम अपने पाठकों को यह सलाह देते है कि आंधी-तूफान और बिजली कड़कने के दौरान किसी भी प्रकार के एलेक्ट्रोनिक उपकरणों कायुपयोग न करे, चाहे टीवी, मोबाइल, कंप्यूटर  हो। इन प्राकृतिक गतिविधियों के दौरान इस्तेमाल करने से इन उपकरणों में तकनीकी खराबी आ सकती है।

Connect with Us! अपनी राय कमेंट्स में दें. ताजा ख़बरों के लिए हमें फॉलो करें. अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई, तो इसे लाइक और शेयर करना न भूलें. Subscribe our Youtube Channel: AajKaReporter Follow us on: Facebook, Twitter, Instagram