त्रिपुरा सीएम बिप्लव देब के बेतुके व विवादित बयान जारी, युवाओं को दी पान बेच कर पैसे बनाने की सलाह

     मार्च में त्रिपुरा की सत्ता संभालने के बाद से मुख्यमंत्री बिप्लब देब जनहित में काम करने से ज्यादा अपने बेमतलब बयानों को लेकर चर्चा में हैं। एक के बाद फिरसे उन्होंने एक अजीबोगरीब बयान किया हैं, जिसकी वजह से सोशल मीडिया में भी काफी चर्चा में है। इस बार उन्होंने युवाओं को सुझाव देते हुए कहा है, कि सरकारी नौकरी के लिए नेताओं के पीछे न भागें। उन्हें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मुद्रा योजना का लाभ उठाते हुए बैंकों से लोन लेकर अपना काम करना चाहिेए। उन्होंने कहा, नेताओं के पीछे भागने की जगह पान की दुकान खोल लेते तो एकाउंट में 5 लाख रुपये होते। बिप्लब देब अगरतला में विश्व पशुपालन दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में बोल रहे थे।

बिप्लब देब ने राज्य के युवाओं को स्व-रोजगार के लिए प्रेरित करते हुए कहा, कि पीएम मोदी की मुद्रा योजना के तहत सरकार युवाओं को बैंक लोन की सुविधा दे रही है, जिससे वह कोई रोजगार कर सम्मानित जिंदगी जी सकते हैं। देब ने आगे कहा, कि एक बेरोजगार युवा बैंक से 75000 तक का लोन ले सकता है और थोड़ा खुद से कोशिश कर आराम से महीने के 25000 रुपए तक कमा सकता है। लेकिन त्रिपुरा के लोगों में पिछले 25 सालों में एक सोच पैदा हो गई है। उन्होंने कहा, लोग सोचते हैं कि ग्रेजुएट स्टूडेंट खेती नहीं कर सकता। मुर्गी पालन नहीं कर सकता। इससे उसका स्तर नीचे चला जाएगा। विकास के लिए इस तरह के रोजगार महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। इसे अपनाने से हिचकिचाना नहीं चाहिए। एक कार्यक्रम के दौरान बिप्लब देब ने कहा था, कि महाभारत के जमाने में भी इंटरनेट का इस्तेमाल होता था, जिसके बाद सोशल मीडिया पर बिप्लब देब की खूब आलोचना हुई थी। उन्होंने कहा, कि अमेरिका या किसी अन्य पश्चिमी देश ने नहीं, बल्कि भारत ने लाखों सालों पहले इंटरनेट की खोज की थी। बिप्लव देव ने कहा, ”यह वो देश है, जिसमें महाभारत में संजय ने धृतराष्ट्र को युद्ध में क्या हो रहा था सब बताया। इसका मतलब है, कि उस समय इंटरनेट था, सैटेलाइट थी, तकनीक था। उस जमाने में इस देश में वो तकनीक थी।” इसके बाद हाल ही में बिप्लब देब ने महिलाओं की खूबसूरती पर बात करते हुए पूर्व मिस वर्ल्ड डायना हेडन को लेकर अपनी टिप्पणी से विवाद उत्पन्न किया था।

बिप्लब देब ने 1997 में डायना हेडन को मिस वर्ल्ड बनाने के फैसले पर हैरानी जतायी थी। हालांकि 1994 में मिस वर्ल्ड बनने वाली एश्वर्या राय की देब ने तारीफ की थी। बिप्लव देव ने कहा, कि सौंदर्य प्रतियोगिताओं के आयोजक अंतर्राष्ट्रीय मार्केटिंग माफिया पहले लड़कियों को भर्ती करते हैं और इसके बाद उनको रैंप पर चलवाते हैं। यहां पहले से तय कर लिया जाता है कि किसको अवॉर्ड देना है। बिप्लब देब के बयान पर डायना हेडन ने भी नाराजगी जाहिर की थी, जिसके बाद बिप्लब देब ने इस मामले में माफी मांग ली थी। बिप्लब देब ने प्रज्ञा भवन में आयोजित एक कार्यक्रम में कहा, कि मैकेनिकल इंजीनियरिंग पृष्ठभूमि वाले लोगों को सिविल सेवाओं का चयन नहीं करना चाहिए, ये सलाह देकर भी बिप्लब देब ने खूब आलोचनाएं झेली थी।

Connect with Us! अपनी राय कमेंट्स में दें. ताजा ख़बरों के लिए हमें फॉलो करें. अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई, तो इसे लाइक और शेयर करना न भूलें. Subscribe our Youtube Channel: AajKaReporter Follow us on: Facebook, Twitter, Instagram