‘मुगलसराय जंक्शन’ शनिवार 14 अक्टूबर से हो गया ‘दिन दयाल उपाध्याय जंक्शन’

मुगलसराय जंक्शन

उत्तरप्रदेश सरकार ने शनिवार को मुगलसराय रेलवे जंक्शन का नाम बदल कर ‘दीन दयाल उपाध्याय (DDU)‘ जंक्शन कर दिया है। हालांकि सरकार को विपक्ष के तीखे विरोध का सामना करना पड़ा, विपक्ष ने भी जंक्शन के नाम को बदलने को लेकर सरकार की कड़ी आलोचना की।

रेल मंत्रालय ने भी यात्रियों के लिए आरक्षण में कोई असुविधा न हो और सारी प्रक्रियाएं सुचारू रूप से चलती रहे, इस के लिए अपने रिकार्ड्स में भी इस बदलाव को भी अधतन कर दिया है। ज्ञात हो कि दिन दयाल उपाध्याय जन संघ के नेता थे जिनकी मृत्यु 1968 ई में इसी जंक्शन पे हुई थी। यह भी एक कारण बताया जा रहा है कि इस ‘मुगलसराय जंक्शन‘ का नाम बदल कर ‘दिन दयाल उपाध्याय जंक्शन’ कर दिया गया है। ज्ञात हो कि, मुगलसराय एशिया का सबसे बड़ा मार्शलिंग यार्ड और चौथा सबसे व्यस्त रेलवे स्टेशन है। यह जंक्शन भारतीय रेलवे का क्लास -A रेलवे स्टेशन है, और रेलवे के पुरवोत्तर जोन में आता है। इसका निर्माण 1862 ई में ईस्ट इंडिया कम्पनी ने हावड़ा को दिल्ली रेल मार्ग से जोड़ने के लिए किया था। इस यार्ड ने अपने व्यस्तता के चरम पे 5000 वैगन प्रतिदिन हैंडल किया है, जो कि वर्तमान में 1500 वैगन प्रतिदिन है।

जरुर पढ़ें-पटना विश्विद्यालय शताब्दी समारोह में प्रधानमंत्री ने 10000 करोड़ का तोहफा दिया

हालांकि नाम मे बदलाव की प्रक्रिया जून 2017 में ही आरम्भ हो गयी थी जब राज्य सरकार ने इस प्रस्ताव को सहमति दे दी थी और इसी माह में राज्य सरकार ने गृह मंत्रालय को जंक्शन के नाम मे बदलाव के लिए आवश्यक ‘अनापत्ति प्रमाण पत्र’, के लिए निवेदन अग्रेषित कर दिया था।
Connect with Us! अपनी राय कमेंट्स में दें. ताजा ख़बरों के लिए हमें फॉलो करें. अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई, तो इसे लाइक और शेयर करना न भूलें. Subscribe our Youtube Channel: AajKaReporter Follow us on: Facebook, Twitter, Instagram