शहाजहांपुर में मोदी जी ने किसानों को कहा, दलदल में कमल खिल कर खिलता है.’

images

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज उत्तर प्रदेश के शहाजहांपुर में किसान कल्याण की रैली को संबोधित किया है. पीएम मोदी ने किसानों को संबोधन की शुरुआत में कहा कि ‘शहीदों की नगरी शाहजहांपुर के जनमन को मेरा प्रणाम, नमन करता हूं. काकोरी से क्रांति की अलख जगाने वाली शहीदों और आपातकाल का डटकर सामना करने वालों को श्रद्धासुमन अर्पित करता हूं. आपको बता दें कि, किसानों के बीच पहुंचे पीएम का यहां भव्य स्वागत किया गया. पीएम मोदी ने आगे कहा कि ‘इसी प्रकार का प्यार और उत्साह देश के कोने-कोने में देखने को मिल रहा है. पिछले दिनों यूपी, पंजाब, राजस्थान, पश्चिम बंगाल में किसानों के बीच जाने का अवसर मिला. जहां भी गया, वहां किसानों ने जो आशीर्वाद दिया, उससे मैं अभिभूत हूं’.

आपको बता दें कि पीएम मोदी का एक माह से कम समय में यूपी का ये तीसरा दौरा है. इससे पहले 14 जुलाई को भी पीएम मोदी यूपी के पूर्वांचल के दो दिवसीय दौरे पर गए थे. इस दौरान उन्होंने यूपी की सबसे बड़ी परियोजना पूर्वांचल एक्सप्रेसवे का शिलान्यास किया था. आज की रैली में उन्होंने सभा को संबोधित करते हुए लोगों से पूछा कल जो लोकसभा में हुआ…क्या आप उससे खुश है? साथ ही उन्होंने विपक्ष को इस रैली में भी नहीं छोडा. उन्होंने कहा विपक्ष को सिर्फ PM की कुर्सी दिखती है, गरीबों को दर्द नहीं दिखाई देता, किसानों की परेशानी नहीं दिखाई देती. आज के भाषण का सबसे महत्वपूर्ण वाक्य यह रहा कि, ‘दल-दल मिलकर दलदल बन जाता है और दलदल में कमल खिल कर खिलता है.’ यहां किसानों के सामने मोदी जी ने अपनी गुनाहों की बात करते हुए कहा की मेरा गुनाह यही है कि मैं भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ रहा हूं, मैं परिवारवाद के खिलाफ लड़ रहा हूं.

मोदी जी ने अपनी सरकार की लाभकारी योजनाओं को गिनाते हुए कहा कि सरकार ने फैसला लिया गन्ने से सिर्फ चीनी ही पैदा ना हो बल्कि इससे गाड़ियों के लिए ईंधन भी बने. इसके लिए गन्ने से एथेनॉल बनाने और उसे पेट्रोल में मिक्स करने का निर्णय लिया गया. धान, मक्का, दाल और तेल वाली 14 फसलों के सरकारी मूल्य में 200 रुपये से 1800 रुपये कि बढ़ोत्तरी देश के इतिहास में कभी नहीं हुई. पूर्वी उत्तर प्रदेश में दो लाख के करीब किसानों के खेतों में पानी पहुंचने को तैयार है. हमारी सरकार ने यह फैसला किया है कि देश के गन्ना किसानों को गन्ने पर लागत मूल्य के ऊपर लगभग 80% सीधा लाभ मिलेगा. अपनी हर बात पर मोदी ने उमड़ी भीड़ का समर्थन लिया. भीड़ मोदी-मोदी के नारे लगा रही थी. मोदी ने इसी के साथ 2022 की उम्मीदें भी दिखाईं और कहा हमने प्रदेश और देश के लिए संकल्प लिया है. यह संकल्प 2022 के इंडिया उदय का है. मोदी 46 मिनट के अपने भाषण में ज्यादा समय किसानों पर बोले लेकिन, विपक्ष की घेरेबंदी में कोर-कसर नहीं छोड़ी.

Connect with Us! अपनी राय कमेंट्स में दें. ताजा ख़बरों के लिए हमें फॉलो करें. अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई, तो इसे लाइक और शेयर करना न भूलें. Subscribe our Youtube Channel: AajKaReporter Follow us on: Facebook, Twitter, Instagram