Google एक्सेसिबिलिटी सर्विसेज का दुरुपयोग करने वाले ऍप्स को प्ले-स्टोर से हटाएगी

google प्ले-स्टोर

वर्तमान समय मे एंड्रॉयड मोबाइल फ़ोन का बोलबाला है, यह उपयोग करने में  सुविदाजनक है और ios की तुलना में थोड़ा कम खर्चीला है। मार्केट में ज्यादातर उपलब्ध मोबाइल फ़ोन एंड्रॉयड वाले ही है। गूगल के प्लेस्टोर में उपलब्ध असंख्य फ्री ऍप्स में से मनचाहे एप्प के डाउनलोड का विकल्प भी इसे यूज़र्स के बीच मे लोकप्रिय बनाता है। विभीन्न डेवलपर्स द्वारा बनाया भिन्न-भिन्न एप्प यहाँ उपलब्ध है और डाउनलोड की भी कोई लिमिट नही है, आप जितने चाहे उतने ऍप्स फ्री में डाउनलोड कर सकते है। किसी भी यूजर को कोई भी एप्प डाउनलोड करने से पहले आपको कुछ परमिशन देने होते है, तभी डाउनलोड पूर्ण हो पाता है। एंड्रॉयड स्मार्टफोन को अक्षम/अपंग लोग भी उतने ही आराम के साथ उपयोग कर पाए जितने की सामान्य लोग करते है, के लिए एक विकल्प ‘Accessibility’ है। इसकी मदद से श्रवण या दृष्टि विकार से पीड़ित व्यक्ति भी एंड्राइड स्मार्टफोन को आसानी से उपयोग कर सकता है।

Google ऐसे ऍप्स पर शिकंजा कसने की कोशिश कर रहा है जो एंड्रॉइड स्मार्टफ़ोन पर Accessibility सेवाओं का उपयोग कर रहा हैं। डेवलपर्स केवल अपने ऍप्स को अक्षम या अपंग उपयोगकर्ताओं के लिए अधिक अनुकूल बनाने के अलावा अन्य उद्देश्यों के लिए इस एक्सेस का उपयोग करती हैं। गूगल कथित तौर पर डेवलपर्स को मेल के माध्यम से यह पूछ रही है कि उसकी Accessibility सर्विसेज का कैसे सही उपयोग कर रही है, और डेवलपर्स को जवाब 30 दिनों में देना है। ऐसा नही करने पर एप्प को प्ले स्टोर से हटाया जा सकता है या फिर डेवलपर का एकाउंट समाप्त किया जा सकता है।

Connect with Us! अपनी राय कमेंट्स में दें. ताजा ख़बरों के लिए हमें फॉलो करें. अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई, तो इसे लाइक और शेयर करना न भूलें. Subscribe our Youtube Channel: AajKaReporter Follow us on: Facebook, Twitter, Instagram