एजबेस्टन टेस्ट के नायक इशांत शर्मा किस बात को सुन-सुन कर थक चुके है?

एजबेस्टन टेस्ट के तीसरे दिन को गेंदबाजों ने अपने नाम किया । भारत और इंग्लैंड के साथ, एक दिन में कुल 14 विकेट गिर गए। भारत के लिए सबसे बड़ी बात यह है कि टीम के सबसे वरिष्ठ ईशांत शर्मा ने करिश्माई गेंदबाजी की है। इंग्लैंड की दूसरी पारी में पांच विकेट लेने वाले ईशांत ने कहा कि वह अपने प्रदर्शन से खुश थे क्योंकि वह बार-बार ‘रक्षात्मक गेंदबाज’ कहलाने से थक गए थे|

ईशांत शर्मा ने पहले टेस्ट के तीसरे दिन गियर बदल लिया और शानदार स्पेल डाला और इंग्लैंड के बल्लेबाजों को में एक-एक करके पवेलियन भेजा। ईशांत ने अपने टेस्ट करियर में आठवें बार पांच विकेट लिए, जिसमें एक ही ओवर में तीन विकेट शामिल थे। दिन के अंत के बाद, ईशांत ने कहा, “मैं ‘रक्षात्मक गेंदबाज’ का टैग लगने से ऊब गया था। मैं अच्छी गेंदबाजी कर रहा था लेकिन विकेट ज्यादा नहीं मिल रहे थी जिसके कारण मुझे यह टैग मिला लेकिन अब इस प्रदर्शन के बाद मैं खुश हूँ कि यह टैग हट चुका है”| बता दें कि इशांत ने बेयरस्टो, स्टोक्स और बटलर जैसे खतरनाक बल्लेबाजों को एक ही ओवर में आउट किया।

आपको बता दें कि इशांत शर्मा ने 83 में से 50 टेस्ट मैच भारत से बाहर खेले हैं। साथ ही उन्होंने आठ में पांच बार एक पारी में पांच विकेट लेने का कारनामा विदेशों में ही किया है। इस सीरीज से पहले इशांत इंग्लैंड में काउंटी भी खेले जिससे उनको काफी मदद मिली, इशांत ने बताया, “काउंटी खेलने से मेरी बॉलिंग में काफी सुधार आया। मैं आईपीएल नहीं खेल कर निराश जरूर हुआ था लेकिन वो मेरे लिए बेहतर रहा। ससेक्स के लिए मैंने ड्यूक बॉल से सिर्फ चार मैच में ही बॉलिंग की लेकिन बड़ी बात ये थी कि मैंने 150-200 ओवर यहां गेंदबाजी की।”

ताजा अपडेट 

भारत का स्कोर 154 /9 पर पहुंच चुका है और अब यहाँ कोई चमत्कार ही उसे जीत दिलवा सकता है लेकिन इंग्लैंड को सिर्फ एक विकेट की दरकार है यह मैच भारत ने हाथ में आते -आते खो दिया जिसके बाद टीम की आलोचना तय है हालाँकि ओवरआल मैच बेहद रोमांचकारी था|

Connect with Us! अपनी राय कमेंट्स में दें. ताजा ख़बरों के लिए हमें फॉलो करें. अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई, तो इसे लाइक और शेयर करना न भूलें. Subscribe our Youtube Channel: AajKaReporter Follow us on: Facebook, Twitter, Instagram