एप्लीकेशन से हो रही है सट्टेबाजी, बेखबर होकर बैठी है BCCI

कहने को तो भारत में सट्टेबाजी कानूनन अपराध है लेकिन सट्टेबाजों को इस से कोई फर्क नहीं पड़ता, वो लगातार सट्टेबाजी करते रहते है और उनके इन कारनामों से कानून की धज्जियां उड़ती रहती है। कुछ ऐसा ही एक नया मामला सामने आया है जिसमें सट्टेबाजों ने सट्टेबाजी करने का एक नया हाईटेक तरीका ईजाद किया है। इस हाईटेक तरीके में सट्टेबाजी करने के लिए ऑनलाइन माध्यम को चुना गया है इस माध्यम में एक ऐप के जरिए सट्टेबाजी की जाती है।

क्या है सट्टेबाजी का ऐप –

यूं तो आए दिन हम सुनते रहते हैं कि सटोरियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया लेकिन ऐसे होने वाले सट्टे के मुकाबले कुछ भी नहीं है। वैसे आजकल के सटोरिये भी बड़े चालाक हो गए हैं और सट्टे के लिए वो नित नए-नए तरीको की खोज करते रहते है। अब तकनीक के इस दौर में उन्होंने नए तरीकों से सट्टेबाजी करना शुरू कर दिया है। एक ऐसा ही एप्लीकेशन है “क्रिकेट लाइन”। इस एप्लीकेशन को अगर आप डाउनलोड करेंगे तो होम पेज को ओपन करने के बाद ही आपको दिख जाएगा कि किस देश में कौन सा मैच चल रहा है। सबसे बड़ी दिलचस्प बात यह है कि इस मैच में चलने वाले भाव का भी जिक्र किया जाता है, हर बॉल के साथ भाव बदलता रहता है। कई बार इस साइट पर फर्जी मैच भी चलाए जाते हैं या अगर दूसरे शब्दों में कहा जाए तो किसी को भी जानकारी नहीं होती कि साइट पर चलने वाला मैच आखिर हो कहां रहा है।

स्क्रीनशॉट के जरिए समझें पूरी कहानी –

इस गोरखधंधे का ऑनलाइन जंजाल समझने के लिए आपको कुछ स्क्रीन शॉट दिखाए जा रहे हैं, जिसके माध्यम से आप आसानी से समझ सकते हैं कि यह एप्लीकेशन किस तरीके से लोगों को ठगता है और जो सट्टेबाज रहता है वह कितनी चालाकी से पैसों को बटोरता है।

ऊपर दिए गए स्क्रीन शॉट में साफ साफ दिख रहा है कि इंग्लैंड में अंडर-19 रॉयल लंदन का मैच चल रहा है। इसमें फेवरेट टीम को भी दिखाया जा रहे हैं। वहीं भाव क्या चल रहा है, और सेशन क्या है ? वह भी साफ-साफ बताया जा रहा है। सेशन के जरिए बताया जा रहा है कि 10 ओवर में 80 या 81 कितने रन बन सकते हैं। अगर आप सेशन के बारे में जानकारी नहीं रखते तो यह जानना जरूरी है कि जिस हिसाब से इसमें बातों को दर्शाया गया है उस हिसाब से 10 ओवर में 80 या 81 रन ही बनना चाहिए इसका मतलब आप पैसा किसी पर भी लगाएं आपका पैसा डूबना ही है। क्योंकि अगर आप ने बोला है कि 80 रन 10 ओवर में नहीं बन सकते तो इसका मतलब है कि जब स्कोर 79 पर रुक जाएगा आप तभी जीतेंगे, और यदि आपने बोला कि 81 रन 10 ओवर में बन जाएंगे, तो आप वैसे ही हार गए क्योंकि 10 ओवर में 81 रन भी तो बने ही नहीं । मतलब दोनों ही स्थिति में सट्टेबाज की चांदी है।

भारत और अफगानिस्तान के टेस्ट मैच में भी हुई थी इस एप्लीकेशन के जरिए सट्टेबाजी –

ऊपर दिए गए स्क्रीन शॉट से साफ-साफ समझ आता है कि हाल ही में हुए भारत और अफगानिस्तान के टेस्ट मैच में इसी एप्लीकेशन के द्वारा सट्टेबाजी हुई थी। इससे यह साफ पता चलता है कि यह एप्लीकेशन कितना सक्रिय है और कितने बड़े स्तर पर इस एप्लीकेशन के द्वारा सट्टे बाजी की जा रही है।

गौरतलब है कि सट्टेबाजी के कई गंभीर मामले सामने आए हैं और उसमें हाल ही में बॉलीवुड के अरबाज खान का भी नाम सामने आया है। भारत में ऐसी साइट या एप्लीकेशन के अलावा और भी बहुत सारे एप्लीकेशंस मौजूद हैं जो सट्टेबाजी में सक्रिय रुप से भागीदार हैं अब देखना यह है कि इस मामले के सामने आने पर भारत सरकार या बीसीसीआई इसके खिलाफ क्या कदम उठाती है।

Connect with Us! अपनी राय कमेंट्स में दें. ताजा ख़बरों के लिए हमें फॉलो करें. अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई, तो इसे लाइक और शेयर करना न भूलें. Subscribe our Youtube Channel: AajKaReporter Follow us on: Facebook, Twitter, Instagram