ट्रम्प अब भी चाहते है नार्थ कोरिया से वॉर इसलिए फिर से बता डाला उसे अपने लिए खतरा !

अब हाल ही में हुए अमेरिका-नार्थ कोरिया की शिखर वार्ता के बाद लगा की दशकों पुरानी दुश्मनी अंत हो चुका और अब लोग परमाणु युद्ध के बादलों से पार पाएंगे| जिस तरह से दोनों देशो के राष्ट्रपतियों डोनाल्ड ट्रम्प -किम जोंग ने हाथ मिलाये और स्माइल वाली तस्वीरें साझा की उससे तो लगा की ऐसे ऐतिहासिक संधि के बाद सब ठीक होगा लेकिन बीतें कुछ दिनों से “पल्टूराम” मोड में आ चुके डोनाल्ड ट्रम्प ने अप्रवासी निति पर पलटी मारने के बाद नार्थ कोरिया के समबन्ध में भी गज़ब की पलटी मारते हुए उसे खुद के लिए खतरा बताया है|

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने उत्तरी कोरियाई नेता किम जोंग-उनके शासन पर प्रतिबंध बढ़ाने के लिए प्योंगयांग के परमाणु हथियारों से  “असामान्य और असाधारण खतरे” का हवाला दिया है। दूसरी ओर शिखर सम्मेलन से वापसी के बाद उन्होंने दावे के साथ  ट्वीट किया था कि “उत्तरी कोरिया से अब परमाणु सम्बन्धी कोई खतरा नहीं है। आज रात आराम से सोए”

राष्ट्रपति द्वारा शुक्रवार को कांग्रेस को भेजा गया संदेश उनके पिछले बिंदु के विपरीत है। इस संदेश में उन्होंने यह स्पष्ट कर दिया है कि प्रशासन उत्तर कोरिया पर सख्त आर्थिक प्रतिबंध क्यों लगाएगा। इस प्रतिबंध को पहली बार पूर्व राष्ट्रपति जॉर्ज डब्ल्यू बुश ने पेश किया था।

उन्होंने कहा, “कोरियाई प्रायद्वीप में हथियारों का प्रसार, विस्फोटक सामग्री के उपयोग की उपस्थिति से खतरा मौजूद है। उत्तरी कोरियाई सरकार की नीति के कारण राष्ट्रीय सुरक्षा और विदेश नीति के लिए अभी भी असामान्य खतरा है। कल जारी बयान में ट्रम्प ने कहा-

“मैं एक साल के लिए उत्तरी कोरिया के लिए प्रतिबंध जारी रख रहा हूं।”

अब ट्रम्प के ऐसे पलटी के बाद किम जोंग से से यदि आप शांति व प्रेम की  उम्मीद  रखेंगे तो उनकी प्रतिक्रिया का थोड़ा सा इंतज़ार कीजियेगा ज़रा वह चीन से सलाह  लेकर अपना बयान देंगे जो आपको हिला डालेगा| 

Connect with Us! अपनी राय कमेंट्स में दें. ताजा ख़बरों के लिए हमें फॉलो करें. अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई, तो इसे लाइक और शेयर करना न भूलें. Subscribe our Youtube Channel: AajKaReporter Follow us on: Facebook, Twitter, Instagram