थाईलैंड की गुफा में फंसे सभी बच्चों और कोच को, सुरक्षित तरीके से निकाल लिया गया बाहर

 Thailand Rescue
Thailand Cave Rescue

थाईलैंड में हुआ है कुछ ऐसा जिसे जानकर आपका विश्वास इंसानियत और सरकार पर मजबूत हो जाएगा। यदि ऐसा भारत में हुआ रहता तो हर इंसान जश्न मना रहा होता। लेकिन अभी कहानी थाईलैंड की गुफा में फंसे 12 बच्चों और 1 कोच का मामला सामने आया है। जिसमें पिछले कई दिनों से देश-विदेश में चर्चा का विषय बना हुआ था और कहा जा रहा था कि कहीं ऐसा ना हो कि उन बच्चों के साथ या कोच के साथ कोई अनहोनी हो जाए। लेकिन एक खुशखबरी की बात यह है कि गुफा में फंसे सभी बच्चों को और बच्चों के साथ गए हुए कोच को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया है। जो 13 लोग थाईलैंड की गुफा में फंसे हुए थे उनमें से 12 बच्चे अंडर 16 फुटबॉल टीम के खिलाड़ी थे और उन बच्चों के साथ उस गुफा में उनके कोच भी फंसे हुए थे।

क्या है पूरा मामला –

दरअसल थाईलैंड वैसे ही अपनी खूबसूरती के लिए और पर्यटन के लिए दुनिया भर में जाना जाता है और यहां के आयरलैंड की खूबसूरती का नजारा तो देखते ही बनता है। थाईलैंड में स्थित थैम लुआंग गुफा भी खूबसूरती और रोमांच के मामले में जानी जाती है । मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक यह 13 लोग एक मैच के बाद इस गुफा में घूमने के लिए गए थे लेकिन वह वहां पर रास्ता भटक गए और उसके बाद उसी वक्त वहां पर तेज बारिश शुरू हो गई जिससे गुफा के आसपास के इलाकों में पानी भर गया और बाढ़ जैसी स्थिति उत्पन्न हो गई जिसके बाद यह 13 लोग 10 किलोमीटर लंबी गुफा में बुरी तरीके से फंस गए। यह हादसा 23 जून को हुआ था तब से लेकर अब तक यह लोग गुफा में ही फंसे हुए थे।

 

गुफा से बाहर निकालने के लिए इन लोगों ने भी की मदद –

थैम लुआंग गुफा में फंसे बच्चों की मदद के लिए बिजनेसमैन व स्पेस एक्स के सीईओ और टेस्ला कार के सह संस्थापक एनल मस्क ने बहुत मदद की और वह मदद करने के साथ ही साथ जिस गुफा में बच्चे फंसे हुए हैं वहां भी पहुंच चुके हैं। गुफा में फंसे हुए बच्चों का बाहर आने के बाद स्वास्थ्य परीक्षण भी किया जा रहा है ताकि उन्हें किसी अंजान कीड़े-मकोड़े ने अगर काटा हो तो उसका इलाज समय से किया जा सके। इस सुविधा के लिए उन बच्चों के साथ पिछले 3 दिनों से आस्ट्रेलियाई डॉक्टर रिचर्ड हैरिस मौजूद हैं।

सुदर्शन पटनायक ने गुफा में फंसे बच्चों के लिए बनाई थी यह कलाकृति –

दुनियाभर में इन बच्चों और कोच के लिए प्रार्थना की जा रही थी कि यह लोग सुरक्षित बाहर निकलें। हलांकि इस बड़ी कामयाबी के पीछे नेवी और रेस्क्यू टीम ने अहम जिम्मेदारी निभाई और बड़ी सूझ-बूझ के साथ सभी बच्चों को और कोच को कड़ी मशक्कत करके बाहर निकाल लिया है। भारत के मशहूर रेत कलाकार सुदर्शन पटनायक ने भी रेत पर कलाकृतियों उकेरकर गुफा में फंसे बच्चों के लिए प्रार्थना की थी।

Connect with Us! अपनी राय कमेंट्स में दें. ताजा ख़बरों के लिए हमें फॉलो करें. अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई, तो इसे लाइक और शेयर करना न भूलें. Subscribe our Youtube Channel: AajKaReporter Follow us on: Facebook, Twitter, Instagram