‘धोनी की आलोचना से पूर्व अपने करियर को देखना चाहिए’- रवि शास्त्री, भारतीय कोच

धोनी की आलोचना

महेंद्र सिंह धोनी की आलोचनाओं पर इस बार बचाव और समर्थन में भारतीय क्रिकेट टीम के कोच रवि शास्त्री खुल-कर आये है। उन्होंने धोनी की आलोचना करने वालो को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि उन्हें आलोचना करने से पूर्व खुद के करियर को देखना चाहिए। उन्होंने आगे कहा कि धोनी के नेतृत्व में भारत ने दो विश्व कप जीत है, एक खिलाड़ी के तौर पर यह शानदार उपलब्धि है।

पूर्व भारतीय गेंदबाज अजित अगरकर और वी वी एस लक्ष्मण ने भविष्य में ट्वेंटी-20 टीम में धोनी के  होने पर सवाल उठाए थे। इस से पूर्व भारतीय कप्तान ने भी धोनी का भरपूर समर्थन किया था।

धोनी से ऐसी आलोचनाओ पर सवाल पूछे जाने पर उन्होंने सहज कहा की जीवन मे हर किसी का अपना विचार होता है।

ज्ञात हो कि, न्यूज़ीलैंड के विरुद्ध दूसरे ट्वेंटी-20 मैच में धोनी ने शुरुआत में धीमी बल्लेबाजी की थी जबकि आवयश्क रन गति काफी ज्यादा थी। हालांकि उन्होंने बाद में अपने हाथ खोले ओर 49 रनों की पारी खेली किन्तु यह भी जीत के लिए पर्याप्तं नहीं था। मैच के पश्चात ही उनकी आलोचनाएं शुरू हो गयी थी। कुछ लोगो ने तो यह तक कह दिया कि वो इस छोटे फॉरमेट के लायक ही नही है, जबकि ट्वेंटी-20 पहला विश्व कप भारत ने उनके ही नेतृत्व में जीत था।

पढ़ें उस दिन क्या हुआ था-धोनी की धीमी सुरुआत की वजह

Connect with Us! अपनी राय कमेंट्स में दें. ताजा ख़बरों के लिए हमें फॉलो करें. अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई, तो इसे लाइक और शेयर करना न भूलें. Subscribe our Youtube Channel: AajKaReporter Follow us on: Facebook, Twitter, Instagram