फीफा कप 2018 : मैच शुरू होने से पहले ही रेफरी महाशय रिश्वत लेते पकड़े गए

फीफा कप 2018 रूस में 14 से जून से आयोजित होने वाला है लेकिन फुटबॉल के इस महामेला की शुरुआत से पहले ही विवादस्पद किस्से देखने को मिल रहे है| ताज़ा मामला सामने आया है अफ्रीका से जहाँ एक स्टिंग ऑपरेशन के दौरान कई मैच रेफरी और फीफा परिषद के एक सदस्य ने कॅश गिफ्ट्स को स्वीकार किया| बीबीसी के रिपोर्ट के अनुसार इनमे एक रेफरी वह है जो विश्व कप में रेफरी रहने वाला था|

केन्या के रेफरी एडेल रेंज मार्वा उन वर्ल्ड कप ऑफिशल्स में शामिल थे जो कि अफ्रीकन फुटबॉल संगठन का प्रतिनिधित्व कर रहे थे| घाना के फुटबॉल क्लब में खुफिया रिपोर्टर ने एक टेप ज़ारी किया है,जिसमे देखा जा सकता है कि रेफरी ने 600 डॉलर बतौर तोहफा स्वीकार किया है| फीफा परिषद के सदस्य वेसी न्यानटेंकी भी इस स्टिंग में फँसे है| इनको बीबीसी ने अफ्रीकन फुटबॉल का दूसरा सबसे ताक़तवर शख्स करार दिया है|

खोजी पत्रकार का नाम अनस अरमायू अनस है| इस स्टिंग ऑपरेशन के बाद मार्वा ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है| रेंज ने वीडियो में कहा, ‘इस तोहफे के लिए शुक्रिया, लेकिन आपको पता है, सबसे अहम चीज है हमारी दोस्ती, एक-दूसरे को जानना।’

पहले मेक्सिको टीम की प्रॉस्टिट्यूट पार्टी की तस्वीरें वायरल होना और अब अफ्रीका से आया यह स्टिंग ऑपरेशन जिसने खेल की साख पर सवाल तो उठाये ही हैं , खेल प्रेमियों का दिल भी तोड़ा और खेल पंडितो को यह कहने पर मजबूर कर दिया हैं कि फीफा वर्ल्ड कप 2018 में मैचों की फिक्सिंग हुई है| जहाँ पैसा होता है वहां बुराई पनपती ही है पर ज़रुरत है उसे हटाने की न कि सिर्फ आलोचना करने की|

उम्मीद की जानी चाहिए कि फीफा इस पर जल्द ही कोई ठोस कदम उठाएगा वरना वर्ल्ड कप के प्रति लोगों में उत्साह की जगह आशंका घर कर जाएगी | 

Connect with Us! अपनी राय कमेंट्स में दें. ताजा ख़बरों के लिए हमें फॉलो करें. अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई, तो इसे लाइक और शेयर करना न भूलें. Subscribe our Youtube Channel: AajKaReporter Follow us on: Facebook, Twitter, Instagram