ब्रिटेन में अज्ञात लोगों के द्वारा मस्जिद और गुरुद्वारे में लगाई गई आग, तफ्शीश में जुटी पुलिस

भारत में अक्सर धार्मिक स्थलों पर आए दिन तोड़फोड़ और आगजनी के मामले देखने को मिलते हैं।एक ऐसा ही मामला ब्रिटेन से सामने आया है जहाँ अज्ञात लोगों के द्वारा मस्जिद और गुरूद्वारे को निशाना बनाया गया और उन्हें आग के हवाले कर दिया गया। हालांकि ब्रिटेन की पुलिस ने तत्परता दिखाते हुए, समय पर बचाव कार्य शुरु कर दिया जिससे किसी भी प्रकार से जान माल का नुकसान नहीं हुआ है।

कैसे हुई ये घटना-

BBC की एक खबर के अनुसार बताया गया कि “बीस्टन में हार्डी स्ट्रीट पर जामा मस्जिद “अबू हूरैरा मॉस्क” और “लेडी पीट लेन” पर गुरु नानक निष्काम सेवक जत्था गुरुद्वारे में आग लगा दी गई। रिपोर्ट में बताया गया है कि पहले तो मस्जिद को निशाना बनाया गया और उसे आग के हवाले कर दिया गया उसके कुछ ही मिनटों के बाद गुरूद्वारे के दरवाजे में भी आग लगा दी गई।

सिख प्रेस संघ ने बताई आपबीती –

सिख प्रेस संघ ने इस बाबत पूरी घटनाक्रम की जानकारी देते हुए बताया है कि गुरूद्वारे के प्रवेश द्वार पर पेट्रोल से भरी बोतल के माध्यम से आग लगाई गई, जिसके तुरंत बाद स्मोक अलार्म बज गया और तत्काल प्रभाव से दमकल विभाग एवं पुलिस को सूचना दी गई। दोनों घटनाएं आस पास के ईलाके में ही हुई थीं जिसके चलते समय पर पहुंचने के कारण दमकल विभाग एवं पुलिसकर्मियों ने आग पर काबू पा लिया

जांच में जुट गई है पुलिस –

पुलिस इस मामले की तहकीकात में जुट गई है जिसमें इस मामले की छानबीन कर रहे लीड्स डिस्ट्रिक्ट सीआईडी के जासूस निरीक्षक “रिचर्ड होम्स” ने कहा है की घटनाएं आसपास के इलाके में हुई जिसके कारण हम इन्हें आपस में जोड़कर देख रहे हैं क्योंकि घटनाओं का वक्त भी मिलता जुलता हुआ दिख रहा है। उनका मानना यह भी है कि जांच अभी प्रारंभिक स्तर पर शुरू हुई है उनके अनुसार धार्मिक स्थलों को विशेष रूप से निशाना बनाया गया और उनको क्षतिग्रस्त करने की कोशिश की गई वह इसे घृणित अपराध के तौर पर देख रहे हैं। होम्स ने कहा है कि इस मामले में घटनास्थल के आस पास के ईलाके की सीसीटीवी फुटेज की जांच की जा रही है और वहीं उस ईलाके में रहने वाले लोगों से भी गहन पूछताछ जारी है। होम्स ने यह भी कहा है कि इस प्रकार के अपराध करने वाले अपराधियों को न्याय के घेरे में लाने के लिए हर संभव प्रयास कर रहे हैं और हम इस मामले की तहकीकात बहुत गंभीरतापूर्वक कर रहे हैं।

अब देखना यह है कि ब्रिटेन पुलिस कितनी जल्दी अपराधियों को पकड़ पाती है। और अगर यही वाक्या अगर हमारे देश भारत में हुआ होता तो आग पर काबू पाने की बात तो दूर पुलिस मलबा हटाने भी देरी से पहुंचती तो इन घटनाओं में ब्रिटेन जैसे देशों की तत्परता को देखते हुए भारतीय पुलिस को भी सक्रिय होने की आवश्यकता है।

Connect with Us! अपनी राय कमेंट्स में दें. ताजा ख़बरों के लिए हमें फॉलो करें. अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई, तो इसे लाइक और शेयर करना न भूलें. Subscribe our Youtube Channel: AajKaReporter Follow us on: Facebook, Twitter, Instagram