भारतीय महिला क्रिकेट टीम के कोच तुषार अरोठे ने दिया इस्तीफा, सीनियर खिलाड़ियों के साथ थी अनबन

Tushar Arothay
Tushar Arothay Resigned

भारतीय महिला क्रिकेट टीम पिछले कई महीनों में शानदार प्रदर्शन कर रही थी और उसकी बड़ी सफलता का कारनामा लगातार आगे बढ़ रहा था। लेकिन दूसरी ओर अगर देखा जाए तो भारतीय महिला क्रिकेट के चाहने वालों के लिए अब एक बुरी खबर यह है कि भारतीय महिला क्रिकेट टीम के कोच ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। इस्तीफा देने के पीछे का कारण बताया जा रहा है कि कोच के सख्त रवैये के और सख्त अनुशासन के कारण खिलाड़ियों को खासी परेशानियों का सामना करना पड़ता था लेकिन उनके पास कोई और विकल्प नहीं था लेकिन जब ये ज्यादा हो गया तब इस बारे में  बीसीसीआई से शिकायत की गई, जिसके बाद कोच के इस्तीफा देने की बात कही जा रही थी।

तुषार अरोठे ने दिया इस्तीफा  – 

भारतीय महिला क्रिकेट टीम के कोच तुषार अरोठे ने अपना इस्तीफा दे दिया है और उनका इस्तीफा स्वीकार भी कर लिया गया है। भारतीय महिला टीम पिछले कुछ मैचों में शानदार प्रदर्शन करके अपनी वापसी की थी जिसका श्रेय तुषार अरोठे को ही जाता है लेकिन इस बात का खुलासा किया गया है कि वह बड़े सख्त अनुशासन वाले थे जिसकी वजह से उनकी सीनियर खिलाड़ियों के साथ अनबन रहती थी। वे खिलाडियों को जबरन दिन में दो दो बार, सुबह और दोपहर में  ट्रेनिंग करने पर जोर देते थे। जो कि सीनियर खिलाड़ियों को बिल्कुल भी पसंद नहीं था।

खिलाड़ियों ने की थी शिकायत – 

महिला क्रिकेट टीम की खिलाड़ी कप्तान मिताली राज और उपकप्तान हरमनप्रीत कौर ने  इस पर नाराजगी जताई थी लेकिन जब बात नहीं बनी तो उन्होंने ट्रेनिंग सेशन की गलत टाइमिंग के बारे में बीसीसीआई से शिकायत की जिसके बाद यह कहा जा रहा था कि तुषार अरोठे को अपने पद से इस्तीफा देना पड़ेगा और उन्होंने आज इस्तीफा दे दिया। खिलाड़ियों का कहना था कि ट्रेनिंग के अलावा कोच टीम में कड़ा अनुशासन भी चाहते थे जिसके चलते महिला खिलाड़ियों ने बीसीसीआई के अलावा प्रशासक समूहों से भी इस मामले की शिकायत की थी।

अगर बात की जाए तो तुषार अरोठे के कैरियर की तो वह भारत  के एक सफल श्रेणी के खिलाड़ी रह चुके हैं। उन्होंने 114 मैचों की 176 पारियों में 37 की औसत से 6105 रन बनाए हैं। इसमें 13 शतक और 31 अर्धशतक शामिल हैं। बल्लेबाजी के साथ-साथ ये एक गेंदबाज भी थे उन्होंने अपने कैरियर में 225 विकेट ली है। जिसमें 11 बार इन्होंने एक पारी में 5 से ज्यादा विकेट लेने का रिकॉर्ड भी बनाया है। गौरतलब है कि यह ऐसा पहला मामला नहीं है जब टीम के सीनियर खिलाड़ियों की नाराजगी की वजह से कोच को बाहर का रास्ता देखना पड़ा। इससे पहले अनिल कुंबले को भी चैंपियंस ट्रॉफी के तुरंत बाद कप्तान विराट कोहली की नाराजगी के कारण  इस्तीफा देना पड़ा था।

Connect with Us! अपनी राय कमेंट्स में दें. ताजा ख़बरों के लिए हमें फॉलो करें. अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई, तो इसे लाइक और शेयर करना न भूलें. Subscribe our Youtube Channel: AajKaReporter Follow us on: Facebook, Twitter, Instagram