भारत ने न्यूजीलैंड को दी 6 विकेट से मात, श्रृंखला 1-1 से बराबर

आज न्यूज़ीलैंड के भारतीय दौरे का दूसरा एकदिवसीय मैच महाराष्ट्र क्रिकेट एसोसिएशन स्टेडियम, पुणे में था। टॉस न्यूज़ीलैंड ने जीता और पहले बल्लेबाजी का फैसला किया और निर्धारित 50 ओवरों में 9 विकेट के नुकसान पर 230 रन बनाए। न्यूज़ीलैंड का शीर्ष-क्रम आज अच्छा प्रदर्शन नही कर पाया, एक समय 16 ओवरों में 4 विकेट के नुकसान पर मात्र 58 रन बनाये थे। मध्यक्रम में पिछले मैच में विजयी पारी खेलने वाले नाबाद शतकवीर टॉम लाथम ने आज न्यूज़ीलैंड की पारी को संभालने की कोशिश की और महत्वपूर्ण 38 रन बनाए। उन्हें अक्षर पटेल ने पारी के 30वें ओवर की पहली गेंद पर बोल्ड किया। आगे फिर हेनरी निकोलस और डी ग्रन्डहोम ने मिलकर पारी को संभाला, दोनों ने क्रमशः 42 और 41 रनों के योगदान दिया। इस जोड़ी को भुवनेश्वर कुमार ने पारी की 38वें ओवर की चौथी गेंद पर हेनरी निकोलस को बोल्ड करके तोड़ा। इसके बाद पुछल्ले बल्लेबाजों ने न्यूज़ीलैंड का स्कोर 230 रन पहुँचाया।

भारत की तरफ से भुवनेश्वर कुमार सबसे सफल गेंदबाज रहे और 10 ओवरों में 45 रन पर 3 महत्वपूर्ण विकेट झटके। आज भारतीय टीम ने अपने एकादश में एक बदलाव करते हुए कुलदीप यादव के स्थान पर अक्सर पटेल को खिलाया। अक्षर पटेल ने इस मौके को भुनाते हुए अपने 10 ओवरों में 54 रन देकर 1 विकेट झटका। उन्होंने पिछले मैच के शतकवीर हीरो टॉम लाथम का महत्पूर्ण विकेट लिया। जसप्रीत बुमराह ने भी कसी हुई गेंदबाजी की और 10 ओवरों में 2 मेडेन ओवरों के साथ मात्र 38 रन देकर 2 विकेट लिया। भारत की कसी गेंदबाजी ही थी जिसके कारण न्यूज़ीलैंड मात्र 230 रन ही बना सका। जबाब में भारतीय पारी की शुरुआत अच्छी नही रही और पहला विकेट रोहित शर्मा के रूप में 22 रनों पे गिरा। रोहित ने मात्र 7 रन बनाए। इसके बाद पिछले मैच में शतकीय पारी खेलने वाले कप्तान विराट कोहली ने शिखर धवन के साथ 57 रनों की साझेदारी की। विराट ने 29 गेंदों में 29 रन बनाए। सलामी बल्लेबाज शिखर धवन ने शानदार अर्धशतक 68 रन बनाकर अपने फॉर्म में वापसी का संकेत दे दिये है। हार्दिक पांड्या ने भी 30 रनों का योगदान दिया।  दिनेश कार्तिक ने भी शानदार नाबाद अर्धशतक लगाया और धोनी के साथ भारतीय टीम को जीत दिलायी। दोनो ने क्रमशः 64* और 18* रन बनाए।

इस जीत के साथ ही भारत ने श्रृंखला 1-1 बराबरी कर लिया है और श्रृंखला का तीसरा व अंतिम मैच अब और रोचक हो गया है, दोनो ही टीमें श्रृंखला जीतने के इरादे से ज्यादा जोर लगाएँगी। जहाँ भारत अपनी विजयी क्रम जारी रखना चाहेगा और साथ ही वन डे रैंकिंग में पुनः शीर्ष क्रम पे काबिज होना चाहेगा वहीं न्यूज़ीलैंड यह सीरीज जीत कर अपना मनोबल ऊँचा करना चाहेगी।

हम तो यही चाहेंगे कि भारत अगले मैच में शानदार प्रदर्शन करे और दर्शको को एक रोमांचक फाइनल देखने को मिले।

Connect with Us! अपनी राय कमेंट्स में दें. ताजा ख़बरों के लिए हमें फॉलो करें. अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई, तो इसे लाइक और शेयर करना न भूलें. Subscribe our Youtube Channel: AajKaReporter Follow us on: Facebook, Twitter, Instagram