महान लियोनार्डो दा विंची की मास्टरपीस पेंटिंग ‘सैल्वेटर मुंडी’ को मिले 2,900 करोड़

ऐसा सुना था कि कला की कोई कीमत नही होती, वो बेशकीमती होती है। कभी सोचा नही था कि ऐसा देखने और समझने का मौका मिलेगा, जी बिल्कुल ऐसा हुआ, एक पेंटिंग जिसकी कीमत 2,900 करोड़ रुपये है, की नीलामी हुयी। सोचने वाली बात यह है कि कल के कद्रदान अभी भी मौजूद है। यह सच है, किंतु पेंटिंग की इतनी कीमत तभी हो सकती है जब वो पेंटिंग महान कलाकार लियनार्डो दा विंची की हो।

इटालियन पेंटर लियोनार्डो दा विंची की 500 वर्ष से अधिक की कलाकृति दुनिया की सबसे महंगी पेंटिंग बन गई , जिसे न्यूयॉर्क शहर में बुधवार को हुए नीलामी में 2,900 करोड़ रुपये (450.3 मिलियन डॉलर) मिले। यह एक आयल पेंटिंग है, जिसमे की ईसा मसीह ने पुनर्जागरण के कपड़ो में क्रिस्टल ओबड धारण किये हुए है। यह विंची की अभी मौजूद 16 पेंटिंग्स में से एक है। ऐसा कहा जाता है कि यह पेंटिंग एक समय खो गया था, किन्तु एक नीलामी के बाद वापस मिला, यह सत्यापित पेंटिंग है।

लियोनार्डो दा विंची की मास्टरपीस सैल्वेटर मुंडी को 2,900 करोड़ रुपये मील है। एक नीलामी में बेके जाने वाले कला के किसी भी काम के लिए यह एक विश्व रिकॉर्ड है।

Connect with Us! अपनी राय कमेंट्स में दें. ताजा ख़बरों के लिए हमें फॉलो करें. अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई, तो इसे लाइक और शेयर करना न भूलें. Subscribe our Youtube Channel: AajKaReporter Follow us on: Facebook, Twitter, Instagram