माल्या की चिट्टी पर सरकार की तरफ से मंत्री एम जे अकबर ने कहा – कर्ज़ चुकाने की कोई नियत नहीं वरना कब का चुका दिए होते

पब्लिक बैंको के हज़ारो करोड़ का कर्ज़ लेकर भागे लिकर किंग व किंगफ़िशर के भगोड़े मालिक विजय माल्या तर्कों पर सरकार की तरफ से विदेश मामलों के राज्य मंत्री एमजे अकबर ने कहा कि यदि वह कर्ज चुकाना चाहते हैं तो वह कई साल पहले ही इसे चुका सकते थे | माल्या ने बयान दिया था कि वह लगातार बैंकों के कर्ज का भुगतान करने की कोशिश कर रहा है लेकीन उन्हें बैंक धोखाधड़ी करने वाले ‘पोस्टर बॉय’ के रूप में पेश किया जा रहा है|

प्रेस कॉन्फ्रेंस में पूछे गए सवाल पर अकबर ने कहा कि अगर विजय माल्या बैंकों के कर्ज का भुगतान करना चाहते है तो मेरा मानना है कि वह कई साल पहले ही कर्ज चुका सकते थे| मंगलवार को जारी एक पत्र में माल्या ने कहा है कि उन्होंने 15 अप्रैल, 2016 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और वित्त मंत्री अरुण जेटली को एक पत्र लिखा था लेकिन उनके द्वारा कोई जवाब नहीं मिला था और अब सब बातें साफ़ रखने को लेकर मैं इन पत्रों को सार्वजनिक कर रहा हूं।

माल्या ने अदालत से आग्रह किया है कि वह अपनी संपत्ति को न्यायिक देखभाल के तहत बेचे जाने और लेनदारों व सरकारी बैंकों के ऋण का भुगतान करने की अनुमति दे। बता दें कि कि शराब व्यवसायी विजय माल्या (62) मार्च 2016 से देश से फरार है। फिलहाल वह लंदन में शरण लिए हुए है|

वह भारतीय अदालतों और कानून प्रवर्तन एजेंसियों द्वारा मुकदमों के विभिन्न मामलों में शामिल होने के सम्मन के बावजूद लंदन में हैं। नागरिक संबंध के रूप में ऋण की वसूली को देखते हुए माल्या ने कहा कि केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) और प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने बैंकों के बकाए को निपटाने की उनकी मंशा के बावजूद उन्होंने उनके मामले में आक्रामक कार्रवाई कर इसे आपराधिक बना दिया है।

अब देखना होगा कि माल्या के प्रति कोई छूट देकर या उसका वादा करके सरकार उसे गिरफ्तार कर देश लाने में कामयाब होती है कि| यदि हुई तो जनता की चहेती बन जाएगी और अगर नहीं तो विपक्ष उसे भगोड़े व्यापारियों की हिमायती करार दे देगा| देखिये आखिर होता है क्या क्योंकि मामला है बेहद ख़ास !

Connect with Us! अपनी राय कमेंट्स में दें. ताजा ख़बरों के लिए हमें फॉलो करें. अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई, तो इसे लाइक और शेयर करना न भूलें. Subscribe our Youtube Channel: AajKaReporter Follow us on: Facebook, Twitter, Instagram