NBCC की इस गलती पर सुप्रीम कोर्ट ने माँगा जवाब

भारत की राजधानी दिल्ली सबसे प्रदूषित राज्य माना जाता है | प्रदुषण के कारण ही यहाँ सबसे अधिक गर्मी पड़ती है | दिल्ली ऐसे राज्यों में एक हैं, जहाँ प्रदुषण को कम करने के लिए पेड़ लगाना चाहिए, वहीँ अभी अभी मिली ख़बर के मुताबिक एक, दो नहीं पुरे 16,500 पेड़ों को काटने का आदेश उपराज्यपाल अनिल बैजल ने दिया है |

नेशनल बिल्डिंग कंस्ट्रक्शन कारपोरेशन (NBCC) को अगले 4 जुलाई तक एक भी पेड़ काटने से सर्वोच्च न्यायालय ने रोक लगा दिया है | न्यायालय का कहना है कि आपको और पेड़ लगाना चाहिए बजाय इसके आप पेड़ काटने का बात कर रहे हैं, जो कहीं से भी उचित नही है | सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस मी. विनोद गोयल एवं रेखा पाली की बेंच ने नेशनल बिल्डिंग कंस्ट्रक्शन कारपोरेशन से जवाब माँगा हैं | उधर NBCC के वकील J.P. Seng ने कोर्ट को बताया की 8 करोड़ रूपया पहले ही पेड़ अथॉरिटी को दिया जा चूका है|

जिस क्षेत्र से पेड़ काट कर बिल्डिंग बनाना है, वो क्षेत्र – नेताजी नगर, सरोजनी नगर, नौरोजी नगर और कस्तूरबा नगर | इन सारे नगर से पेड़ काट कर बिल्डिंग बनाने का काम शुरू करना है | जिसपर फ़िलहाल रोक लगा दी गई है और जवाब तलब किया गया है |

Connect with Us! अपनी राय कमेंट्स में दें. ताजा ख़बरों के लिए हमें फॉलो करें. अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई, तो इसे लाइक और शेयर करना न भूलें. Subscribe our Youtube Channel: AajKaReporter Follow us on: Facebook, Twitter, Instagram